Number (वचन)

Nouns का वह रूप जिससे यह पता चले की noun की संख्या 1 है या 2, number कहलाता है
जैसे:-
pen,          teacher,          tables,          girls,          man
Kinds Of Number (वचन के प्रकार)
Number निम्नलिखित 2 प्रकार का होता है l
1- Singular Number (एक वचन)
2- Plural Number (बहुवचन)

1- Singular Number (एक वचन)
 ऐसे nouns जिनसे उनकी एक ही संख्या व्यक्त होती है, एकवचन कहलाते हैं l
 जैसे:-
 

man, dog, cock, lion, king, father, ox etc.
2- Plural Number (बहुवचन)
ऐसे nouns जिनसे उनकी एक से अधिक संख्या व्यक्त होती है, बहुवचन कहलाते हैं l
जैसे:-
Queens, lions, hens, kings, cows, men, women etc.

Singular से Plural बनाना
Singular से Plural बनाने के प्रमुख नियम निम्नलिखित हैं l
1- By Adding ‘s’ at the end of the words (शब्दों के अंत में ‘s’ जोड़ करके)
इसके अंतर्गत दिए शब्द के अंत में ‘s’ जोड़ देते हैं, जिसका उच्चारण ‘स’ या ‘ज’ करके निकलता है

 Singular Plural Singular Plural
 boy boys dog dogs
 pen pens house houses
 book books cow cows
 son sons king kings
 cock cocks brother brothers
 bull
 bulls bed beds
 ant ants mobile mobiles
 table tables horse horses
 letter letters train trains

2- दिए गए nouns के अंत में यदि ‘s, ss, ch, sh या x आता है तो plural बनाने के लिए उनके अंत में ‘es’ जोड़ते हैं, जिसका उच्चारण ‘ऐज’ करते है l
जैसे:-

 Singular Plural Singular Plural
 bench benches gas gases
 class classes fox foxes
 watch watches dish dishes
 bush bushes kiss kisses
 tax taxes catch catches
 dash dashes box boxes
 bunch bunches  
    
    

3- यदि noun के अंत में ‘y’ आया हो और उससे पहले a, e, o में से कोई vowel आया हो तो plural बनाते समय noun के अंत में ‘s’ लगा देते हैं l
जैसे:-


 Singular
 Plural Singular Plural
 day days guy guys
 key keys joy joys
 monkey monkeys donkey donkeys
 boy boys toy toys
    

4- यदि noun के अंत में ‘y’ आया हो और उससे पहले कोई consonant आया हो तो plural बनाते समय ‘y’ को हटा देते हैं और उसी के स्थान पर ‘ies’ लगा देते हैं l
जैसे:-

 Singular Plural Singular Plural
 baby babies lady ladies
 story stories duty duties
 army armies city cities
 sky skies fly flies
 pony ponies country countries